इतिहास की अनकही सत्य कहानी

सरदार वल्लभ भाई पटेल :- ‘‘नेहरू जी आइये रिक्शा में बैठ लीजिए !’’ .जवाहर लाल नेहरू :- ‘‘नहीं पटेल जी हम खान साहब से जरूरी बातें कर रहे हैं |’’.सरदार वल्लभ भाई पटेल :- ‘‘ऐसी क्या जरूरी बाते हैं?.जवाहर लाल नेहरू :- ‘‘यह पाकिस्तान जाने की जिद किए हुए हैं, हम चाहते हैं कि भारत में […]

Read More इतिहास की अनकही सत्य कहानी
May 19, 2019

Tags: , , ,

विश्व के प्रथम क्रांतिकारी “क्षत्रिय विश्वामित्र”

क्या आप जानते है कि विश्व की प्रथम क्रांति की शुरुवात किसने की थी.? विश्व मे प्रथम क्रांति किसी ओर ने नही, महाराज विश्वामित्र ने की थी । इसे जातयोत्कर्ष या कुशीक आंदोलन कहा जाता है । यह संघर्ष था ब्रह्मा और क्षात्र धर्म का , ओर यही संघर्ष आज तक चला आ रहा है, […]

Read More विश्व के प्रथम क्रांतिकारी “क्षत्रिय विश्वामित्र”

हर्षवर्धन बैंस और कश्मीर के हुण

गुप्त साम्राज्य के पतन के बाद भारत में चारो और अराजकता फ़ैल गयी थी। भारतीय सीमाएं असुरक्षित हो गयी थी , शत्रु भारत को आँखे दिखा रहे थे। किन्तु यह इस धरती का सोभाग्य रहा है , जब जब इस देश पर कोई बड़ा संकट आया , वीर राजपूत उस संकट के समय में पहले […]

Read More हर्षवर्धन बैंस और कश्मीर के हुण

भारत में पैकेट बंद दूध: आओ हम सब मिलकर जहर पियें!!

क्या आप पैकेट का दूध पीते हैं?? क्या आपके मिल्क में भी आ जाती है मोटी मलाई की पर्त? अगर हाँ, तो मुबारक हो भाइयों, जल्दी ही प्रभु से मिलन का रास्ता खुल रहा है आपके लिए…. वर्ष 1830 | Germany के एक वैज्ञानिक ने एक अनोखे पदार्थ की खोज की जिसका नाम उन्होंने रखा […]

Read More भारत में पैकेट बंद दूध: आओ हम सब मिलकर जहर पियें!!

निर्णय लेने में इमोशंस का क्या काम….? (श्रीमद्भागवत गीता)

मैंने आज तक जितनी किताबें पढ़ी है, उसमे से श्रीमद्भागवत गीता सर्वश्रेष्ठ है, गीता की तुलना किसी अन्य पुस्तक से नही की जा सकती । आजकल बात तो यह है, जब आप गीता पढ़नी शुरू करते है, तो बाकी की सारी बुक आपको गीता की कॉपी लगती है । चलिए में आपसे एक सवाल करता […]

Read More निर्णय लेने में इमोशंस का क्या काम….? (श्रीमद्भागवत गीता)

संस्कृत और तमिल की प्राचीनता

बीते रविवार मन की बात से मन खिन्न हो गया, वही मन की बात, मोदी जी वाली। साहेब कहते हैं, तमिल संस्कृत से अधिक प्राचीन है। बीते मार्च, अपनी पुस्तक “एग्जाम वॉरियर्स” के प्रमोशन में साहेब ऐसी टिप्पणी कर चुके हैं, अब पुन:, वही भी विश्व संस्कृत दिवस के रोज़! विश्व संस्कृत दिवस के लेख […]

Read More संस्कृत और तमिल की प्राचीनता

बरनोल आउट ऑफ स्टॉक

अभी ट्विटर पर गया तो वहां देखा कि हर तरफ बरनोल का ही बोल बाला है। बरनोल की गज़ब की भारी मांग है और लोग बता रहे है कि आउट ऑफ स्टॉक होगया है और स्टॉकिस्टों ने सप्लाई करने में अपनी असमर्थ दिखा दी है। जब इस अप्रत्याशित बरनोल की मांग के बारे में पता […]

Read More बरनोल आउट ऑफ स्टॉक
August 24, 2018

Tags: , , ,

केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद करना, मतलब खुद की कब्र खोदना

बिच्छुओं को बहने से बचाने की मूर्खता बन्द करो हिन्दूओं….. यह दलित वनवासी महिला याद है? केरल की है अब याद आया? इसको मिशनरी गुण्डों ने सिर्फ इसलिए बुरी तरह पीटा और इसके कपड़े फाड़ दिए थे क्योंकि ये पूजा कर रही थी। केरल में ईसाई मिशनरियों और जिहादियों का आतंक अब इतना बढ़ चुका […]

Read More केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद करना, मतलब खुद की कब्र खोदना
August 20, 2018

Tags: , , 2 Comments

गाँधी के बोल वचन

कौन कहता है — गाँधी “देशभक्त और अहिंसा का पुजारी” था.. [1] – शहीदे आजम भगतसिंह को फांसी दिए जाने पर – अहिंसा के महान पुजारी गांधी ने कहा था, ‘‘हमें ब्रिटेन के विनाश के बदले अपनी आजादी नहीं चाहिए।’’ और आगे कहा, ‘‘भगतसिंह की पूजा से” देश को बहुत हानि हुई और हो रही […]

Read More गाँधी के बोल वचन