भारत में पैकेट बंद दूध: आओ हम सब मिलकर जहर पियें!!

क्या आप पैकेट का दूध पीते हैं?? क्या आपके मिल्क में भी आ जाती है मोटी मलाई की पर्त? अगर हाँ, तो मुबारक हो भाइयों, जल्दी ही प्रभु से मिलन का रास्ता खुल रहा है आपके लिए…. वर्ष 1830 | Germany के एक वैज्ञानिक ने एक अनोखे पदार्थ की खोज की जिसका नाम उन्होंने रखा […]

Read More भारत में पैकेट बंद दूध: आओ हम सब मिलकर जहर पियें!!

निर्णय लेने में इमोशंस का क्या काम….? (श्रीमद्भागवत गीता)

मैंने आज तक जितनी किताबें पढ़ी है, उसमे से श्रीमद्भागवत गीता सर्वश्रेष्ठ है, गीता की तुलना किसी अन्य पुस्तक से नही की जा सकती । आजकल बात तो यह है, जब आप गीता पढ़नी शुरू करते है, तो बाकी की सारी बुक आपको गीता की कॉपी लगती है । चलिए में आपसे एक सवाल करता […]

Read More निर्णय लेने में इमोशंस का क्या काम….? (श्रीमद्भागवत गीता)

संस्कृत और तमिल की प्राचीनता

बीते रविवार मन की बात से मन खिन्न हो गया, वही मन की बात, मोदी जी वाली। साहेब कहते हैं, तमिल संस्कृत से अधिक प्राचीन है। बीते मार्च, अपनी पुस्तक “एग्जाम वॉरियर्स” के प्रमोशन में साहेब ऐसी टिप्पणी कर चुके हैं, अब पुन:, वही भी विश्व संस्कृत दिवस के रोज़! विश्व संस्कृत दिवस के लेख […]

Read More संस्कृत और तमिल की प्राचीनता