हर्षवर्धन बैंस और कश्मीर के हुण

गुप्त साम्राज्य के पतन के बाद भारत में चारो और अराजकता फ़ैल गयी थी। भारतीय सीमाएं असुरक्षित हो गयी थी , शत्रु भारत को आँखे दिखा रहे थे। किन्तु यह इस धरती का सोभाग्य रहा है , जब जब इस देश पर कोई बड़ा संकट आया , वीर राजपूत उस संकट के समय में पहले […]

Read More हर्षवर्धन बैंस और कश्मीर के हुण

भारत में पैकेट बंद दूध: आओ हम सब मिलकर जहर पियें!!

क्या आप पैकेट का दूध पीते हैं?? क्या आपके मिल्क में भी आ जाती है मोटी मलाई की पर्त? अगर हाँ, तो मुबारक हो भाइयों, जल्दी ही प्रभु से मिलन का रास्ता खुल रहा है आपके लिए…. वर्ष 1830 | Germany के एक वैज्ञानिक ने एक अनोखे पदार्थ की खोज की जिसका नाम उन्होंने रखा […]

Read More भारत में पैकेट बंद दूध: आओ हम सब मिलकर जहर पियें!!

निर्णय लेने में इमोशंस का क्या काम….? (श्रीमद्भागवत गीता)

मैंने आज तक जितनी किताबें पढ़ी है, उसमे से श्रीमद्भागवत गीता सर्वश्रेष्ठ है, गीता की तुलना किसी अन्य पुस्तक से नही की जा सकती । आजकल बात तो यह है, जब आप गीता पढ़नी शुरू करते है, तो बाकी की सारी बुक आपको गीता की कॉपी लगती है । चलिए में आपसे एक सवाल करता […]

Read More निर्णय लेने में इमोशंस का क्या काम….? (श्रीमद्भागवत गीता)

संस्कृत और तमिल की प्राचीनता

बीते रविवार मन की बात से मन खिन्न हो गया, वही मन की बात, मोदी जी वाली। साहेब कहते हैं, तमिल संस्कृत से अधिक प्राचीन है। बीते मार्च, अपनी पुस्तक “एग्जाम वॉरियर्स” के प्रमोशन में साहेब ऐसी टिप्पणी कर चुके हैं, अब पुन:, वही भी विश्व संस्कृत दिवस के रोज़! विश्व संस्कृत दिवस के लेख […]

Read More संस्कृत और तमिल की प्राचीनता